शहर विशेष
जेल में रहते सुर्खियों में राम रहीम,करीबी रिश्तेदार ने मौड़ मंडी ब्लास्ट पर खोला चिट्ठा
चंडीगढ़,09/फरवरी/2018(ITNN)>>> फिल्म की शूटिंग के बहाने सिरसा राम रहीम के डेरे में हथियारों की ट्रेनिंग दी जाती थी। यह कहना है राम रहीम के नजदीकी रिश्तेदार भूपिंदर सिंह गोरा का जो मौड़ मंडी में चुनावों के दौरान हुए बम धमाके के चार आरोपियों के पकड़े जाने के बाद दिए गए बयान पर टिप्पणी कर रहे थे। भूपेंद्र सिंह गोरा ने आरोप लगाया कि यह धमाका जानबूझकर हमदर्दी हासिल कर,वोट बटोरने के लिए कराया गया था जिसमें कांग्रेस का विधायक हरमिंदर सिंह जस्सी भी जिम्मेवार है। 

पकड़े गए लोगों ने यह साफ कहा है कि धमाके में प्रयोग की गई कार को उन्होंने सिरसा के डेरे के अंदर पेंट किया था और उसमें वहीं पर कुछ बदलाव किए गए थे। इससे साफ जाहिर होता है कि यह धमाका राम रहीम ने ही करवाया है क्योंकि जब तक उसका बेटा काफिले के साथ था कोई धमाका नहीं हुआ। उसके जाने के बाद ही यह धमाका हुआ है जिसमें 7 निर्दोष लोगों की जानें चली गई थी। जस्सी के भांजे गोरा ने कहा कि मैंने पहले भी कहा था कि इसमे डेरा का हाथ है। 

तब मेरी बात को अनदेखा किया गया और अब पुलिस को भी पता चल गया है। इस साजिश में जस्सी का भी हाथ है। इसकी भी जांच होनी चाहिए। डेरा मुखी का बेटा सारा दिन जस्सी के साथ रहा,लेकिन जब वो चला गया उसके बाद ही ब्लास्ट हुआ। जस्सी और डेरा मुखी के खिलाफ 302 का मामला दर्ज हो,सीबीआई जांच की जाए और कांग्रेस जस्सी को पार्टी से बाहर निकाले। बता दें 2017 के पंजाब विधान सभा चुनावों के प्रचार दौरान 31 जनवरी की सायं को विधान सभा हलका मौड़ मंडी से कांग्रेस के उम्मीदवार हरमिंदर सिंह जस्सी की जनसभा निकट बड़ा ब्लास्ट हो गया था। 

जिस दौरान 4 बच्चों सहित 6 लोगों की मौत हो गई थी जबकि कई लोग गंभीर जख्मी हो गए थे। जांच में ये भी सामने आया है कि विधानसभा चुनाव से तीन दिन पहले 31 जनवरी 2017 को कांग्रेस प्रत्याशी व सिरसा डेरामुखी गुरमीत राम रहीम के समधी हरमंदर जस्सी की चुनावी सभा में ब्लास्ट में इस्तेमाल कार सिरसा में डेरे की वर्कशॉप के बी हिस्से में असेम्बल हुई थी। ये कार बाबा के लिए गाड़ियां मोडिफाई करने वाले मैकेनिक गुरतेज काला के कहने पर वर्कशॉप के 4 लोगों ने तैयार की। 

लेकिन,उन्हें नहीं पता था कि कार ब्लास्ट में इस्तेमाल होगी। यह खुलासा वर्कशॉप में काम करने वाले 4 कर्मचारियों ने किया है। उन्होंने मौड़ पुलिस थाने में ब्लास्ट में इस्तेमाल कार की शिनाख्त की। उन्होंने तलवंडी साबो कोर्ट में 164 सीआरपीसी के तहत बयान दर्ज करवाए। मामले की गंभीरता को देखते बम कांड के आरोपियों को पकडऩे के लिए स्पैशल जांच टीम का गठन किया गया था परन्तु पिछले काफी समय से उक्त मामले में कोई बड़ा सुराग न मिलने के चलते उक्त जांच रुकने की कगार पर पहुंच गई थी। 

परन्तु आज यह मामला उस समय फिर सुर्खियों में आ गया जब स्पैशल जांच टीम ने तलवंडी साबो की माननीय अदालत में माननीय जज गुदर्शन सिंह के पास 4 गवाहों को पेश किया। गवाहों ने माननीय जज साहिब समक्ष अपने बयान दर्ज करवाए। गवाहों की पेशी के मद्देनजर पुलिस ने सुरक्षा के सख्त प्रबंध किए हुए थे और अदालती काम्पलैक्स में बठिंडा के पूर्व एस.एस.पी.व जांच टीम के अफसर स्वप्न शर्मा भारी फोर्स सहित हाजिर थीं।