Arbaaz Khan, who arrived at Thane Crime Branch in betting case
शहर विशेष
सट्टेबाजी मामले में ठाणे क्राइम ब्रांच पहुंचे अरबाज खान,साथ दिखे शेरा
मुंबई,2/जून/2018/ITNN>>> आईपीएल सट्टेबाजी में बॉलीवुड अभिनेता और निर्माता अरबाज खान का नाम आने के बाद उनसे ठाणे के क्राइम ब्रांच ऑफिस में पूछताछ शुरू हो गई है. अरबाज अपने भाई सलमान खान के बॉडीगार्ड शेरा के साथ करीब 11 बजे पेशी के लिए पहुंचे हैं. इससे पहले ठाणे पुलिस की एंटी एक्टॉर्सन सेल ने शुक्रवार को उन्हें समन किया था. पुलिस अब अरबाज का बयान दर्ज कर सट्टेबाजी रैकेट से उनके लिंक के बारे में पड़ताल करेगी. पुलिस को इंटरनेशनल बुकी सोनू जालान के साथ अरबाज की तस्वीरें मिली थीं. 

जानकारी के मुताबिक अरबाज ने इस साल आईपीएल में 2 करोड़ 80 लाख रुपये का सट्टा लगाया था. बताया जा रहा कि उन्हें इस साल काफी नुकसान हुआ है. अरबाज ने पिछले साल 40 लाख रुपये का सट्टा लगाया था. पेशी से पहले अरबाज खान ने बड़े भाई सलमान खान से मुलाकात की है. माना जा रहा है कि सलमान की लीगल टीम इस केस में उनकी मदद करेगी. पुलिस को शक है कि सोनू जालान के रैकेट के जरिए अरबाज खान ने आईपीएल मैचों में मोटी रकम का सट्टा लगाया है. 

हालांकि इस मामले में अरबाज खान पर कोई केस दर्ज नहीं किया गया है और न ही वह आरोपी हैं. पिछले महीने पुलिस ने डोबिंवली में सट्टेबाजी रैकिट का भंडाफोड़ करते हुए 4 सट्टेबाजों को गिरफ्तार किया. शुरुआती जांच में यह संकेत मिले हैं कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सट्टेबाजी रैकिट चल रहा था. इतना ही नहीं, डॉन दाऊद इब्राहिम की डी कंपनी से भी सट्टेबाजी रैकिट के लिंक मिलते दिख रहे हैं. पूछताछ में रैकेट के पीछे सोनू जालान का नाम सामने आया था. इसके बाद सोनू जालान को गिरफ्तार कर जब पूछताछ की गई तो उसने बताया कि बॉलीवुड के कई सेलिब्रिटी बेटिंग में अलग-अलग नामों से पैसा लगाते हैं.

सोनू ने मुंबई के एक और बुकी प्रेम तनेजा और अपने बिजनेस पार्टनर जूनियर कोलकाता के साथ मिलकर श्रीलंका बनाम ऑस्ट्रेलिया का टेस्ट मैच फिक्स किया था. इस मैच को फिक्स करने के लिए तीनों ने श्रीलंका जाकर पिच क्यूरेटर को पैसा दिया था. इस मैच में एक ही दिन में 21 विकेट गिरे थे. सोनू ने 2016 में पाकिस्तान के वेटरन क्रिकेटर्स की एक घरेलू मैच भी फिक्स किया था. आईपीएल मैचों में इससे पहले भी स्पॉट फिक्सिंग जैसे मामले सामने आ चुके हैं. 

इस बार की विजेता टीम चेन्नई सुपर किंग्स और पहले सीजन की विजेता राजस्थान रॉयल्स पर फिक्सिंग में लिप्त पाए जाने के बाद 2 साल का बैन भी लगाया गया था. इससे पहले पहलवान दारा सिंह के बेटे विंदु सिंह पर IPL में फिक्सिंग का आरोप लगा था. उनपर आरोप है कि वो बुकी और खिलाड़ियों के बीच बिचौलिए का काम करते थे. इस मामले में वो गिरफ्तार भी हो चुके हैं.