Former Bombay High Court judge Abhay Thipsay is concerned about the hand of the Thamma Congress, the aggressive nationalism.
शहर विशेष
बंबई हाई कोर्ट के पूर्व जज अभय थिपसे ने थामा कांग्रेस का हाथ,बोले- आक्रामक राष्ट्रवाद से चिंतित हूं
मुंबई,13/जून/2018/ITNN>>> बंबई और इलाहाबाद हाई कोर्ट के पूर्व जज अभय थिपसे ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. उन्होंने कल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुंबई में एक कार्यक्रम में मुलाकात की थी. इस मौके पर महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक चव्हाण,कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत भी मौजूद थे. थिपसे ने कहा कि मैंने कांग्रेस में शामिल होने का फैसला किया और मुम्बई में पार्टी अध्यक्ष से मिला. लेकिन औपचारिकताएं पूरी की जानी अभी बाकी हैं.

कांग्रेस में क्यों शामिल हो रहे हैं थिपसे?
अभय थिपसे पिछले साल मार्च में इलाहाबाद हाई कोर्ट के जज पद से रिटायर हुए थे. वह बंबई हाई कोर्ट में भी जस्टिस रह चुके हैं. अभय थिपसे ने कहा कि वह सांप्रदायिकता और आक्रामक राष्ट्रवाद से विचलित थे और उन्हें इसके लिए मंच चाहिए था. उनकी रुचि कांग्रेस में थी. थिपसे बंबई हाई कोर्ट के जस्टिस के तौर पर सलमान खान को जमानत देने पर आलोचना के शिकार हुए थे. 

सलमान को निचली अदालत से दोषी करार दिये जाने के दिन ही हाई कोर्ट से जमानत मिल गई थी. न्यायमूर्ति थिप्से (64) शतरंज के भारतीय ग्रैंडमास्टर प्रवीण महादेव थिपसे के भाई हैं. वह 1987 में महाराष्ट्र न्यायिक सेवा में शामिल हुए थे और इसके बाद 2007 में वह जलगांव में प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश बने. अपने अदालती करियर में कई वर्षों तक जज थिपसे ने कई अदालतों और विशेष अदालतों में अपनी सेवाएं दीं.