शहर विशेष
मुंबई में भारी बारिश से बुरा हाल,जलभराव से पालघर में 300 लोग घरों में फंसे
मुंबई,09/जुलाई/2018/ITNN>>> मुंबई और नजदीक के क्षेत्रों में मानसून की मूसलाधार बारिश के कारण सड़कों,रेलवे की पटरियों पर पानी भर गया और शहर में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है. पालघर जिले के वसई में जलभराव के कारण करीब 300 लोग अपने घरों में फंस गए. इस मौसम में एक दिन में हुई यह सर्वाधिक बारिश है जिसके कारण कई सड़कों और गलियों में पानी भर गया. लोगों को घुटनों तक भरे पानी से गुजरना पड़ा. बारिश और कम दृश्यता के कारण वाहन सड़कों पर रेंगते रहे,सड़कों पर बने गड्ढों से समस्या और भी ज्यादा बढ़ गई है.

महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने भारी बरसात को देखते हुए मुंबई के स्कूलों और कॉलेजों के लिए आज अवकाश घोषित कर दिया. मुंबई यूनिवर्सिटी ने कहा कि जो छात्र आज परीक्षा में नहीं शामिल हो पाए उनके लिए परीक्षा फिर से आयोजित करवाई जाएगी. आज महाराष्ट्र विधानसभा में भी भारी बारिश और इसके असर का मुद्दा उठा. महाराष्ट्र सरकार ने यहां विधानसभा परिसर में पिछले हफ्ते भारी बारिश के बाद पानी भरने की घटना की जांच के आदेश दिए हैं. शहर में विधानसभा का मानसून सत्र चल रहा है.

लेकिन शुक्रवार को बारिश के चलते बिजली गुल हो जाने से विधानसभा और विधान परिषद दोनों को सत्र प्रारंभ होने के थोड़ी ही देर बाद स्थगित करना पड़ा था. भारी बारिश के कारण कुर्ला,सायन और दादर में बहुत अधिक जलभराव हुआ है. मीरा रोड,नालासोपारा और वसई में भारी बारिश हुई. अधिकारियों ने बताया कि मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे में रेल सेवाओं में थोड़ा विलंब हो रहा है क्योंकि कुछ स्थानों पर पटरियों पर पानी भर गया है. गुजरात और उत्तरी राज्यों की ओर जाने वाली लंबी दूरी की कुछ रेलगाड़ियों को बोरीवली में रोका गया क्योंकि नालासोपारा और विरार के नजदीक पटरियों पर पानी भर गया था. पश्चिम रेलवे के एक प्रवक्ता ने बताया कि रेलगाड़ियां लगभग एक घंटे की देरी से रवाना हुई. 

बृहन्मुंबई बिजली आपूर्ति एवं परिवहन (बेस्ट) के प्रवक्ता ने बताया कि बसें देरी से चल रही हैं लेकिन कोई भी सेवा रद्द या निलंबित नहीं की गई है. शहर के नजदीकी इलाकों में और ज्यादा बारिश हुई और सड़कें पानी में डूब गई. वसई के मीठानगर में सड़कें पानी में पूरी तरह से डूब गई जिसके कारण करीब 300 लोग घरों में रहने को मजबूर हुए. पालघर के जिलाधिकारी प्रशांत नानावारे ने बताया कि आपदा प्रबंधन और मानिकपुर पुलिस थाने के अधिकारियों ने रहवासियों के साथ संपर्क स्थापित किया. एक बचाव दल नौका में सवार होकर इलाके में गया. वहां के लोगों को मदद मुहैया करवाते रहेंगे.

मुंबई एयरपोर्ट पर दृश्यता बहुत अच्छी नहीं थी लेकिन विमान निर्धारित समय के अनुसार ही उड़ान भर रहे हैं. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि उड्डयन क्षेत्र के लिए अब तक कोई चेतावनी जारी नहीं की गई है. मौसम विभाग ने मुंबई में कल तक भारी बारिश जारी रहने का अनुमान जताया है. कोलाबा वेधशाला में बीते 24 घंटे में 170.6 मिमी बारिश दर्ज की गई. मौसम विभाग,मुंबई के उप महानिदेशक केएस होसालिकर ने बताया,इस मौसम में 24 घंटे में हुई यह सर्वाधिक बारिश है. उन्होंने बताया कि इसी दौरान उपनगर सांताक्रूज में 122 मिमी बारिश हुई.