अर्थ व्यवस्था
आज से लागू हो गया राष्ट्रीय इ-वे बिल
नई दिल्ली,01/फरवरी/2018(ITNN)>>> जीएसटी के तहत राष्ट्रीय इ-वे बिल (ऑनलाइन घोषणा पत्र) बुधवार रात 12 बजे से प्रभावी हो गया। अब माल के परिवहन के दौरान व्यापारियों को सिर्फ राष्ट्रीय ई-वे बिल ही रखना होगा। 50 हजार से अधिक के माल के परिवहन के दौरान परिवहनकर्ता को इ-वे बिल डाउनलोड करना जरूरी है। चैप्टर-71 के तहत बहुमूल्य धातुएं, आभूषण, एलपीजी, पीडीएस का करोसिन, पुराना प्रयुक्त निजी और घरेलू सामान के परिवहन के दौरान ई-वे बिल अपेक्षित नहीं होगा। एक फरवरी से सिर्फ राष्ट्रीय इ-वे बिल से ही माल का परिवहन किया जा सकता है।

SMS पर बन जाएगा ई-वे बिल
कारोबारियों और ट्रांसपोटर्स को कोई भी टैक्स ऑफिस या चेक पोस्ट पर जाने की जरूर नहीं होगी। ई-वे बिल इलेक्ट्रॉनिकली स्वयं कारोबारी निकाल पाएंगे। कारोबारी ऑफलाइन भी एसएमएस के जरिए ई-वे बिन बनवा सकेंगे। जिन कारोबारियों के पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है और उन्हें एक दिन में ज्यादा ई-वे बिल जनरेट नहीं करने हैं,वह एसएमएस सर्विस से ई-वे बिल जनरेट कर सकते हैं। इसके लिए कारोबारियों को अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर करना होगा। इसी नबंर से एसएसएस के जरिए ई-वे बिल की रिक्वेस्ट डिटेल देकर जनरेट कर सकते हैं।

यहां करना होगा लॉग इन
कारोबारियों को ई-वे बिल बनाने के लिए http://164.100.80.111/ewbnat2 पर क्लिक करना होगा। वहां अपना जीएसटी का यूजर आईडी पासवर्ड भरें। उसके बाद अपना ई-वे बिल जनरेट कर सकते हैं। अगर आपने ई-वे बिल पर रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है,तो पहले आपको रजिस्टर करना होगा। इसके लिए ई-वे बिल रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना होगा और अपना जीएसटीआईएन नंबर भरना होगा। इससे अपना पासवर्ड जनरेट हो जाएगा।