Desire in the home of the CM, the farmer forced to die, this is the reason
म. प्र. के जिले
CM के गृहजिला में इच्छा मृत्यु के लिए मजबूर हुए किसान,ये है वजह
सीहोर,29/मई/2018/ITNN>>> सीएम शिवराज के गृह जिला के किसान अब इच्छामृत्यु पाने के लिए मजबूर हो गए हैं। सीहोर से 65 किमी दूर कान्याखेड़ी दुधी परियोजना को स्वीकृत करवाने के लिए 24 गांवों के सैंकड़ों किसानों ने पीएम मोदी के नाम इच्छामृत्यु के आवेदन भरे। किसान आवेदनों की रजिस्ट्री करवाकर पीएम मोदी को भेजेंगे।

क्या है ​पूरा मामला ?
दरअसल,20 साल से किसान कान्याखेड़ी डैम की मांग प्रशासन से लेकर सीएम शिवराज और प्रभारी मंत्री रामपाल सिंह से कर चुके हैं। लेकिन सरकार ने आश्वासन देकर भी अब तक डैम को लेकर कोई पहल नहीं की। इसको लेकर किसानों में शिवराज सरकार के खिलाफ आक्रोश है। एक तरफ देखा जाए तो यहां गांव सूखे से त्रस्त हैं,पीने और सिंचाई के लिए पानी नहीं है। लेकिन किसी ने आज तक गांव की सुध नहीं ली।