प्रदेश विशेष
दिल्ली में कांग्रेस जीत रही 7 सीटें,CM के तौर पर पहली पसंद केजरीवाल
नई दिल्ली,08/जून/2018/ITNN>>> कांग्रेस ने दिल्ली में अपना एक इंटर्नल सर्वे करवाया है जिसमें दावा किया गया है कि पार्टी मजबूत होती दिख रही है। भाजपा के खिलाफ विपक्षी एकता के दावों और अफवाहों के बीच पार्टी ने अपना यह सर्वे करवाया है। इसमें कहा गया है कि न केवल वोट पर्सैंट में सुधार दिख रहा है बल्कि पी.एम. के तौर पर लोग मोदी की तुलना में राहुल गांधी को अधिक पसंद कर रहे हैं। सर्वे के अनुसार अभी लोकसभा चुनाव हुए तो कांग्रेस को लोकसभा में 41.2 प्रतिशत और विधानसभा में 38.1 प्रतिशत वोट मिलने का अनुमान है। 7 में से 5 लोकसभा सीटों पर पार्टी की जीत होती दिख रही है। 

जनता के बीच अभी भी पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के कामों का असर दिख रहा है। 22.5 प्रतिशत लोगों ने सबसे अच्छा नेता के तौर पर उन्हें चुना है। कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि यह सर्वे स्वराज इंडिया के चीफ योगेन्द्र यादव के लिए कभी सर्वे करने वाली टीम ने इस बार कांग्रेस के लिए किया है। सर्वे करने वाले विकास झा ने बताया कि यह साइंटिफिक सर्वे है,जिसमें रैंडम सैंपलिंग की गई है। 1276 लोगों ने इसमें भाग लिया और उन्होंने अपनी राय दी। 70 में से 24 असैम्बली में यह सर्वे किया गया,हर विधानसभा से 10 बूथ और हर बूथ से 7 लोगों को चुना गया। 

इसके लिए 23 सवालों की एक लिस्ट तैयार की गई और लिस्ट में हर सवाल के साथ संबंधित ऑप्शन दिया गया था। सर्वे में कांग्रेस की सबसे बड़ी चिंता युवाओं को लेकर है। अभी भी युवा वर्ग की पहली पसंद मोदी हैं। वहीं दिल्ली में बिजली,पानी,सरकारी स्कूलों और अस्पतालों की सुविधाओं को लेकर लोग आप सरकार के कामों से खुश नजर आ रहे हैं, जो कांग्रेस के लिए चिंता की बात हो सकती है। इस बारे में प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने कहा कि यह सर्वे हमारे लिए महत्वपूर्ण है। शीला दीक्षित के कामों को लोग पसंद कर रहे हैं। हम सभी सीटों पर चुनाव लड़ेंगे,जरूरत है कि कांग्रेस के लोग आपस में तालमेल करें, हमें बाहरी लोगों से तालमेल की जरूरत नहीं है।