If Modi gives Delhi full statehood, AAP will campaign for BJP in Lok Sabha elections Kejriwal
प्रदेश विशेष
अगर मोदी दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देते हैं तो AAP लोकसभा चुनाव में बीजेपी के लिए प्रचार करेगी - केजरीवाल
नई दिल्ली,12/जून/2018/ITNN>>> दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विधानसभा में ऐलान किया है कि अगर मौजूदा केन्द्र सरकार दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दे देती है तो आम आदमी पार्टी 2019 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी के लिए प्रचार करेगी. हालांकी उन्होंने यह चेतावनी भी दी कि यदि मोदी सरकार ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं दिया तो उनकी पार्टी भाजपा दिल्ली छोड़ो अभियान चलाएगी. 

केजरीवाल ने विधानसभा में कहा,मैं बीजेपी से कहना चाहता हूं कि लोकसभा चुनावों से पहले वह दिल्ली को पूर्ण राज्य का दिला दे,लोगों का हर वोट बीजेपी को जाएगा. हम लोकसभा चुनाव में उनके लिए प्रचार करेंगे. उन्होंने कहा,लेकिन यदि उन्होंने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं दिया तो यहां के लोग बोलेंगे कि भाजपा वालों,दिल्ली छोड़ो. दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के सरकार के प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान केजरीवाल ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनावों के दौरान पीएम मोदी ने का वादा किया था कि बीजेपी सत्ता में आने पर दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देगी. 

उन्होंने कहा कि क्या ये वादा जुमला ही रहेगा? केजरीवाल ने कहा,हमें दिल्ली के विकास,अपने बच्चों के भविष्य के लिए लड़ना होगा. मैं मोदी जी से कहना चाहता हूं कि उन्होंने पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान दिल्लीवासियों से पूर्ण राज्य का दर्जा देने का वादा किया था. मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि क्या वह जुमला था. अगले लोकसभा चुनावों से पहले केजरीवाल की अगुवाई वाली आप ने पूर्ण राज्य के दर्जे के मुद्दे को दिल्ली की जनता के बीच जोरदार तरीके से उठाने का फैसला किया है. अपने इस अभियान के तहत आप पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ एलजी दिल्ली छोड़ो का नारा दिया है. 

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को दिल्ली की सातों सीट पर जीत मिली थी. केजरीवाल ने आरोप लगाया कि दिल्ली के लोगों को केंद्र सरकार इतना परेशान कर रही है जितना अंग्रेजों ने भी नहीं किया होगा. उप - राज्यपाल (एलजी) को ब्रिटिश शासन के दौरान के वायसराय जैसा बताते हुए केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली पर 1556 से ही राजाओं ने शासन किया था. 1947 में भारत को आजादी मिली लेकिन दिल्ली को अब भी आजादी नहीं मिली क्योंकि केंद्र ने वायसराय की जगह एलजी को नियुक्त कर दिया है जो राष्ट्रीय राजधानी का शासन चला रहे हैं. 

केजरीवाल ने विधानसभा में कहा,दिल्ली में जनता का शासन ही नहीं है. राजा एलजी दिल्ली पर राज कर रहे हैं. मैं जानना चाहता हूं कि हमें अब तक आजादी क्यों नहीं मिली. हमारे पुरखों ने भी भारत की आजादी की लड़ाई लड़ी थी. बाल गंगाधर तिलक का नाम लेते हुए केजरीवाल ने कहा,स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है. हम दिल्ली में स्वराज स्थापित करेंगे क्योंकि एलजी दिल्ली के लोगों के लिए नहीं सिर्फ प्रधानमंत्री के लिए जवाबदेह हैं. 

उन्होंने कहा कि 1992 में केंद्र सरकार ने दिल्ली में चुनाव कराने की व्यवस्था की थी. अंग्रेजों ने भी 1935 में ऐसा ही किया था जिसके तहत चुनाव तो होने लगे,लेकिन ताकत वायसराय के पास होती थी. केजरीवाल ने कहा,केंद्र ने 1992 में दिल्ली से भद्दा मजाक किया था. मैं दिल्ली के लोगों से पूछना चाहता हूं कि उन्हें दोयम दर्जे का नागरिक क्यों माना जाता है? हम आधे नागरिक क्यों हैं ? दिल्लीवासियों के वोट की कीमत जीरो क्यों है ?