प्रदेश विशेष
कोर्ट के फैसले के बाद बोले हार्दिक- भाजपा की हिटलरशाही मुझे नहीं रोक सकती
नई दिल्ली,25/जुलाई/2018/ITNN>>> विसनगर की कोर्ट के फैसले के बाद पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने आज कहा कि किसानों,युवाओं और गरीबों के लिए लडऩे वाली उनकी आवाज को भाजपा की हिटलरशाही  नहीं दबा पाएगी। दंगा फैलाने के एक मामले में दो वर्ष की जेल की सजा सुनाये जाने के तुरंत बाद हार्दिक ने यह बात कही। 

अदालत के फैसले के तुरंत बाद हार्दिक ने ट्वीट किया कि सामाजिक न्याय और सामाजिक अधिकार के लिए लडऩा अगर गुनाह हैं तो हां मैं गुनहगार हूं। सत्य और अधिकार की लड़ाई लडऩे वाला अगर बागी है तो हां मैं बागी हूं। सलाखों के पीछे सत्य,किसान,युवा और गरीबों के लिए लडऩे वाली मेरी आवाज को भाजपा की हिटलरशाही सत्ता नहीं दबा सकती। पाटीदार नेता ने कहा कि वह अदालत द्वारा सजा सुनाये जाने से भयभीत नहीं हैं क्योंकि वह पहले ही सर पर कफन बांध चुके हैं। 

सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में नामांकन में पाटीदार समुदाय के लिए आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन की अगुवाई कर रहे 25 वर्षीय हार्दिक  पर राजद्रोह सहित कई आरोपों में मामले दर्ज हैं। उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा कि मेरी फितरत में है जालिमों से मुकाबला करना और हक के लिए लडऩा। जितना दबाओगे उतना ही चुनौती बन के उभरूंगा।

बता दें कि गुजरात के मेहसाणा जिले के विसनगर की एक सत्र अदालत के न्यायाधीश वी पी अग्रवाल ने हार्दिक पटेल और उनके दो साथियों लालजी पटेल और ए के पटेल को दंगा भड़काने,आगजनी करने,संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और गैरकानूनी तरीके से एकत्र होने के मामले में भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत दोषी ठहराया। उन तीनों को उसी अदालत से जमानत मिल गई। इस संबंध में जुलाई 2015 में हाॢदक पटेल सहित 17 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। अदालत ने साक्ष्य के अभाव में 14 आरोपियों के बरी कर दिया।