प्रदेश विशेष
किरकिरी के बाद आखिर शहीद कैप्टन कुंडू के घर पहुंचे CM खट्टर,दी 50 लाख की सहायता राशि
गुरुग्राम,08/फरवरी/2018(ITNN)>>> हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर इतनी किरकिरी करवाने के बाद आखिर आज जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में पाकिस्तानी गोलाबारी में शहीद हुए कैप्टन कपिल कुंडू के घर पहुंचे। मुख्यमंत्री ने शहीद के परिवार से मुलाकात कर दुख व्यक्त किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री उस स्थान पर भी गए जहां शहीद का अंतिम सस्कार किया गया था अौर उनको श्रद्धांजलि दी। 

शहीद परिवार को दी 50 लाख की सहायता राशि
मुख्यमंत्री ने शहीद कैप्टन कुंडू को श्रद्धांजलि देने के बाद 50 लाख की सहायता राशि दी। वहीं, मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार शहीद की याद में गांव में सरकारी संस्थान बनाएगी। सीएम खट्टर ने शहीद कैप्टन कुंडू के नाम से इलाके में कोई प्रोजेक्ट शुरू करने की बात कही। उन्होंने कहा कि जो पॉलिसी में होगा उसके तहत शहीद की बहनों को भी नौकरी दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने आर्थिक सहायता के अलावा कोई बड़ी घोषणा नहीं की।  

सरकार द्वारा दी सहायता राशि से शहीद परिवार असंतुष्ट
मुख्यमंत्री खट्टर द्वारा परिवार को 50 लाख की सहायता राशि दी गई। वहीं शहीद का परिवार इस सहायता राशि से संतुष्ट नहीं है। उनका कहना है कि हरियाणा सरकार ने उन्हें कम सहायता राशि दी है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि मध्यप्रदेश के शहीद सिपाही को वहां की सरकार ने हरियाणा सरकार से भी ज्यादा का सम्मान दिया है। 

अंतिम संस्कार के दिन नहीं पहुंचे थे मंत्री अौर विधायक
उल्लेखनीय है कि शहीद के अंतिम संस्कार के दिन हरियाणा का कोई भी मंत्री नहीं पहुंचा था। सीएम से लेकर मंत्री और विधायक तक व्यस्त थे। कोई मंत्री परिजनों का हाल-चाल तक पूछने के लिए नहीं पहुंचा। इस पर शहीद की मां ने मलाल जताया था। वहीं, अब सीएम का कार्यक्रम बना है।

हेलीकाप्टर का प्रबंध न होने से टला था सीएम का प्रोग्राम
वहीं, बीते दिन सीएम खट्टर शहीद को सम्मान देने के लिए केवल इसलिए नहीं पहुंच पाए थे क्योंकि समय पर हेलीकाप्टर का प्रबंध नहीं हो सका था। हालांकि  केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंदरजीत सिंह शहीद कप्तान कपिल कुंडू के परिजनों से मिलने के लिए पहुंचे थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार भारतीय जनता पार्टी और केंद्र सरकार की ओर से कुछ भी बन पाएगा उनकी मदद की जाएगी। 

सीएम के शहीद के घर न पहुंचने पर विपक्ष का तंज
सीएम के बीते दिन शहीद के घर न पहुंचने पर विपक्ष ने तंज कसने शुरू कर दिए हैं। हरियाणा कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर का कहना है कि सीएम को सुविधाओं के कमी नहीं है वह जब चाहे चॉपर के सहारे पहुंच सकते हैं। हरियाणा का नाम रोशन करने वाले शहीद परिवार को इस समय राज्य के मुख्य यानि की सीएम की बेहद जरूरत थी। उन्हें सबसे पहले पहुंचना चाहिए था। यहां कहा जा सकता है कि संवेदनशीलता की कमी है। न केवल सीएम बल्कि एमपी एमएलए को प्राथमिकता से परिजनों से मिलने पहुंचना चाहिए था।