Army interference in Pak elections, Nak Paki nak
प्रदेश विशेष
पाक चुनाव में सेना के दखल का भंडाफोड़,कटी पाक की नाक
पेशावर,29/जुलाई/2018/ITNN>>> पाकिस्तान में 25 जुलाई को हुए आम चुनाव में क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान खान की पार्टी  पी टी आई की जीत के बाद परिणाम नतीजों पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। दरअसल इस चुनाव में जहां विपक्ष ने धांधली के आरोप लगाए हैं वहीं अमरीका तक ने इन चुनावों को नकार दिया है। कारण है इमरान खान की सेना से नजदीकी और सेना का इसमें दखल। चुनाव नतीजों के बाद वोट काउंटिंग का एक वीडियो सामने आया है,जिसके बाद पाकिस्तान की पूरी दुनिया के सामने नाक कट गई है। 

वीडियो में पाकिस्तान के सैनिक वोट गिनते नजर आ रहे हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक चुनाव के दौरान सुरक्षा के लिए जिन सैनिकों की तैनाती की गई थी,वही सैनिक चुनाव के बाद मतों की गणना करते नजर आ रहे हैं। पत्रकार बिलाल फारूकी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर वीडियो शेयर करते हुए यह जानकारी दी। वीडियो में मतों की काउंटिंग करते हुए कुछ लोग एक कमरे में बैठे दिख रहे हैं। इन लोगों में से कुछ लोग खड़े हैं तो कुछ लोग टेबल के सामने कुर्सी में बैठकर वोट गिन रहे हैं। 

एक सैनिक भी कुर्सी पर बैठकर वोट गिनते हुए नजर आ रहा है। इसके अलावा इस कमरे में कुछ महिलाएं भी बैठे दिख रही हैं। हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि यह वीडियो पाकिस्तान के किस इलाके का है। बता दें कि इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई)  इन नेशनल असेंबली चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। पार्टी ने 270 में से 116 सीटों पर जीत हासिल की है। पार्टी को सरकार बनाने के लिए 20 और सदस्यों की जरूरत है, जिसके लिए वह सहयोगियों की तलाश कर रही है।

सत्तासीन पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के खाते में 64 सीटें गई हैं, जबकि पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के बेटे बिलावल भुट्टो-जरदारी के नेतृत्व में पाकिस्तान पीपल्स पार्टी 43 सीटों के साथ तीसरे स्थान पर है। जहां इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान में सबसे बड़ी पार्टी बन गई है तो वहीं दूसरी तरफ बलूचिस्तान प्रांत से यह खबर भी आई है कि वहां फौज ने यह तय किया कि कौन जीतेगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक फौज बलूचिस्तान में लोगों को घरों से जबरन उठाकर पोलिंग बूथ लेकर गई और पहले से तय उम्मीदवार को वोट दिलवाया। वहीं सभी प्रमुख पार्टियों ने चुनावों में धांधली और कुप्रंबधन का आरोप लगाते हुए नतीजों को खारिज कर दिया है।