Modis Karnataka mission started here, while the BJP's forthcoming theme Hindu is in danger
प्रदेश विशेष
इधर मोदी का कर्नाटक मिशन शुरू,उधर BJP ने आगे बढ़ाई 'हिंदू खतरे में है की थीम
बेंगलुरु,01/मई/2018/ITNN>>> कर्नाटक में मतदान की तारीख अब नज़दीक आ गई है और चुनाव प्रचार अपने चरम पर है. चुनाव की तारीख नज़दीक आते ही भारतीय जनता पार्टी की तरफ से प्रचार आक्रामक हो गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार से चुनावी समर में उतर रहे हैं तो बीजेपी ने अब कर्नाटक की सिद्धारमैया सरकार को घेरने का प्लान तैयार कर लिया है. चुनाव प्रचार के इस आखिरी दौर में बीजेपी की तरफ से संदेश दिया जा सकता है कि कर्नाटक में 'हिंदू खतरे में' है. लिंगायत मुद्दे को लेकर पहले भी बीजेपी सिद्धारमैया पर हिंदुओं को बांटने का आरोप लगाती रही है. 

बीजेपी इस मैसेज को लेकर अब और भी आक्रामक रुप से मैदान में उतरेगी और सिद्धारमैया की 'हिंदू विरोधी छवि' को मुद्दा बनाएगी. बीजेपी अपने इस प्लान को लागू करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा ले रही है. व्हाट्सएप के जरिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस संदेश को पहुंचाने की कोशिश की जाएगी. दूसरी तरफ कांग्रेस भी बीजेपी के इस प्लान को टक्कर देने की तैयारी में है. दोनों पार्टियों का मानना है कि व्हाट्सएप और सोशल मीडिया की मदद से राज्य की 224 विधानसभा सीटों में से 170 को आसानी से टारगेट किया जा सकता है.

1 मई से ही बीजेपी का आक्रामक प्रचार शुरू हो रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले एक हफ्ते लगातार राज्य में प्रचार करेंगे, इसके अलावा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पहले से ही राज्य में डेरा जमाए हुए है. वहीं 3 मई को यूपी के मुख्यमंत्री और पार्टी के स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ में कर्नाटक में प्रचार शुरू करेंगे. योगी और सिद्धारमैया के बीच पहले ही कई बार ट्विटरवार और जुबानी जंग तेज हो चुकी है. योगी और सिद्धारमैया में पहले भी 'टीपू सुल्तान बनाम हनुमान' की जंग हुई थी. 

इन सभी नेताओं के अलावा अनंत हेगड़े,संजय पाटिल समेत अन्य नेता भी मैदान में उतर रहे हैं, जो कि अपने आक्रामक भाषणों के कारण जाने जाते हैं.
आपको बता दें कि पीएम मोदी मंगलवार को चामराजनगर जिले के सांथेमरहल्ली और बेलगावी के उडुपी और चिक्कोडी में रैलियों को संबोधित करेंगे. उडुपी रैली से पहले मोदी कृष्ण मठ का दौरा करेंगे और मठाचार्य से मुलाकात करेंगे. बता दें कि 12 मई को कर्नाटक में विधानसभा चुनाव होने हैं. चुनाव से पहले प्रचार में बीजेपी, जेडीएस और कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है.