If Congress comes to power in Madhya Pradesh, we will forgive the farmers debt in 10 days: Rahul Gandhi
प्रदेश विशेष
अगर मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आई तो हम 10 दिन में किसानों का कर्ज माफ करेंगे: राहुल गांधी
मंदसौर,6/जून/2018/ITNN>>> मंदसौर गोलीकांड की पहली बरसी पर राहुल गांधी बुधवार को खोखरा गांव पहुंचे। उन्होंने कहा कि मोदीजी ने किसानों के साथ धोखा किया। उन्होंने किसानों को फसलों की सही कीमत देने का वादा किया था। लेकिन वे सब में फेल हो गए। अगर मध्य प्रदेश में हमारी सरकार आई तो हम 10 दिन में किसानों का कर्जा माफ करेंगे। 

इससे पहले वे आंदोलन में मारे गए किसानों के परिजनों से मिलने पहुंचे। उनसे करीब 10 मिनट तक बात की। मृतक किसान अभिषेक पाटीदार के परिवार ने आरोप लगाया है कि एसडीएम ने हमें राहुल से न मिलने की हिदायत दी और दबाव बनाया।

कांग्रेस के नेता एक टीम बनकर काम करेंगे
- राहुल गांधी ने कहा - कांग्रेस पार्टी एक टीम बनकर और एक होकर चुनाव लड़ रही है। सब मिलकर एकसाथ आगे बढ़ेंगे। मैं आपको बताता हूं कि कांग्रेस के कार्यकर्ता पार्टी के लिए खून-पसीना बहाते हैं। इसलिए मेरी प्राथमिकता में पहले देश की जनता,फिर पार्टी के कार्यकर्ता और फिर पार्टी के नेता हैं।

कांग्रेस सरकार में हमारे कार्यकर्ता की पहली जगह होगी
- 15 साल में आपने जो झेला है। हम उसे दूर करने की कोशिश करेंगे। मध्यप्रदेश में हमारी सरकार बनते ही कांग्रेस के कार्यकर्ता की पहली जगह होगी। इसलिए आप प्रदेश के लोगों को बताइए कि किसान के साथ सरकार ने क्या किया।

- आप बताइए कि युवाओं को शिवराज जी और नरेंद्र मोदी जी ने किस तरह धोखा दिया। व्यापमं में शिवराज,उनके परिवार और भाजपा ने किस तरह धोखा दिया। इलाज के लिए युवाओं,माताओं को लाखों की जरूरत होती है,हमने राजस्थान में मुफ्त इलाज की व्यवस्था दी। हम शिक्षा-स्वास्थ्य कम से कम दामों में दिलवाते हैं।

किसानों के लिए मोदी जी के पास एक शब्द नहीं है
- मोदीजी से मैंने किसानों की आवाज सुनने को कहा। उनका जवाब सुनिए। वे 30 सेकंड चुप रहे। कोई जवाब ही नहीं दिया। नरेंद्र मोदी जी ने 5 शब्द भी नहीं कहे। बड़े-बड़े उद्योगपति आते हैं, घंटों भाषण चलता है, सूट-बूट में मीटिंग होती है। किसानों के लिए मोदी जी के पास एक शब्द नहीं है।"

प्रधानमंत्री ललित मोदी, नीरव मोदी से कहते हैं और पैसा ले जाओ
- मुझे बताया गया कि 1200 किसानों ने मध्यप्रदेश में आत्महत्या की है। एक के बाद एक मंदसौर के किसान आत्महत्या कर रहे हैं। हिंदुस्तान में सबसे अमीर लोगों का लाखों करोड़ का एनपीए है। 2.5 लाख करोड़ मोदी ने खुद उनको दिया। क्या इन लोगों के परिवारों में किसी ने आत्महत्या की? किसान को बताया जाता है कि कर्ज है,जाओ आत्महत्या करो। हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों पर लाखों-करोड़ों का कर्ज होता है। कहते हैं आप माल्या है,ललित मोदी हैं,नीरव मोदी हैं हमसे और पैसा लो और भाग जाओ। ना सजा होगी ना कार्रवाई होगी 30 हजार करोड़ नीरव मोदी की जेब में जाएंगे।

मेहुल चौकसी को भाई कहते हैं मोदी
- "नरेंद्र मोदी मेहुल चौकसी को मेहुल भाई कहते,नीरव मोदी को नीरव भाई कहते हैं। नीरव भाई और मेहुल भाई को मोदी जी ने 30 हजार करोड़ रुपया दिया। इतने रुपए के साथ आप मध्य प्रदेश के हर किसान का दो बार कर्ज माफ कर सकते हो। पूरे देश के युवाओं ने नरेंद्र मोदी जी पर भरोसा किया। आज खुशी है मुझे कि इस भीड़ में हजारों-लाखों युवा खड़े हैं। मैं आपको कहना चाहता हूं कि उन्होंने किसानों को धोखा दिया,उन्हें सही दाम दिलवाने का भरोसा दिया था। लहसुन का क्या दाम मिलता है,200। यूपीए की सरकार में आपको लहसुन,सोयाबीन का क्या दाम मिलता था।

पिछले साल 6 जून को आंदोलन में मारे गए थे 6 किसान
- पिछले साल 4 जून को रतलाम के डेलनपुर में किसानों के आंदोलन के दौरान भीड़ में से एक पत्थर उछला जिसने एएसआई पवन यादव की आंखों की रोशनी छीन ली।

- 6 जून 2017 को मंदसौर के पिपलियामंडी स्थित बही पार्श्वनाथ चौपाटी से किसान आंदोलन की आग भड़की गई। आंदोलन के तहत किसान सुबह से ही चौपाटी पर इकट्ठे हो रहे थे।

- दोपहर 12.30 बजे उन्होंने चक्काजाम कर दिया। कुछ उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। इधर, प्रदर्शनकारियों ने बही पार्श्वनाथ फंटे पर टीअाई अनिल ठाकुर की पिटाई कर दी।

- दोपहर 1.30 बजे सीआरपीएफ ने मोर्चा संभाला। यह देखकर किसान और भड़क गए। कुछ लोगों ने वाहनों में आग लगाना शुरू कर दी। थाने को घेरकर उसमें भी आग लगाने की काेशिश की। सुरक्षा बलों ने गोलियां दागीं।

- इसमें 5 किसानों बरखेड़ापंथ के अभिषेक पाटीदार, लोध के सत्यनारायण धनगर, टकरावद के बबलू पाटीदार, चिलोद पिपलिया के कन्हैयालाल पाटीदार और नीमच नयाखेड़ा के चैनराम पाटीदार की मौत हो गई थी।

- इधर,पुलिस की पिटाई से बड़वन के युवा घनश्याम धाकड़ की भी मौत हो गई।