Doubts of doubt in Gurdaspur, in large quantity
प्रदेश विशेष
गुरदासपुर में संदिग्ध की आशंका,भारी मात्रा में मिला असला
गुरदासपुर,06/फरवरी/2018(ITNN)>>> सीमा सुरक्षा के जवानों ने आज भारत पाकिस्तान सीमा पर आतंकवादियों की पंजाब मे खतरनाक शस्त्र भेजने की साजिश को आज असफल कर बड़ी मात्रा मे आंतकवादियों द्वारा प्रयोग किए जाने हथियार व हैंडग्रनेड बरामद करने मे सफलता प्राप्त की। लंबे समय के बाद भारत पाकिस्तान सीमा पर ए.के-47 राइफल जैसे हथियार बरामद हुए है। इस संबंधी जानकारी देते हुए सीमा सुरक्षा बल के गुरदासपुर सैक्टर हैड क्वाटर के डी. आई. जी. राजेश शर्मा ने बताया कि भारत-पाकिस्तान सीमा पर कस्सोवाल बी.ओ.पी. (बार्डर आब्र्जवेशन पोस्ट) पर सीमा सुरक्षा बल की 164 बटालियन तैनात है। 

गत रात कस्सोवाल बी.ओ.पी.के सामने अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर जवानों ने कुछ हलचल देखी थी,पंरतु गहरी धुन्ध होने के कारण जवान रात को कोई कारवाई नहीं कर पाए थे। पंरतु इस 164 बटालियन मे कमांडैंट राज पाल सिंह ने इस संबंधी सारे इलाके की घेराबंदी के आदेश जारी कर जवानों को जिस इलाके मे हलचल हुई थी उसकी घेराबबंदी करवा दी थी। डी.आई.जी. राजेश शर्मा के अनुसार आज सुबह से ही सीमा सुरक्षा बल के जवान कमांडैंट राजपाल सिंह की देख-रेख में इलाके मे तालाशी अभियान चलाए हुए थे तथा सीमा सुरक्षा बल के जवानों को शक था कि तस्करों ने हैरोइन आदि पाकिस्तान से भेजने की कोशिश की होगी। 

सीमा सुरक्षा बल के जवानों के साथ तालाशी अभियान मे डॉग स्कवैड भी चल रहा था। आज दोपहर लगभग 2 बज कर 10 मिन्ट पर एक डॉग ने अचानक ही कुछ समान तालाश कर लिया पंरतु जैसे ही जवानों ने डॉग द्वारा पकड़े समान की जांच की तो सभी जवान हैरान रह गए। डी.आई.जी.राजेश शर्मा ने बताया कि पकड़े गए समान की जब जांच की गई तो उसमें ए.के.-47 राइफले-3,पिस्टल-2,हैड ग्रनेड-6,ए.के.-47 राइफल की गोलियां-150 गोलियां,पिस्टल की 100 गोलियां, मैगजीन ए.के.47 राइफल-6 तथा मैगजीन पिस्टल-2 बरामद हुए। उन्होंने बताया कि यह समान निश्चित रूप मे सीमा पार से आया है। 

तथा आंतकवादियों की गहरी साजिश का परिणाम है। उन्होंने बताया कि अभी भी इलाके मे तालाशी अभियान जारी है। उन्होंने कहा कि पकड़ा गया समान आंतकवादी प्रयोग करते हैं। नशीले पदार्थो के तस्करों ने कभी भी ए.के.-47 राइफल का प्रयोग नहीं किया। जिससे स्पष्ट होता है कि पाकिस्तान मे बैठे आंतकवादी अब पंजाब सीमा के रास्ते शस्त्र भेजने तथा घुसपैठ करने की कोशिश करेंगे। उन्होंने स्पष्ट किया कि सीमा सुरक्षा बल सीमा पर हर चुनौती का सामना करने को तैयार है तथा जवानों को अधिक सर्तक रहने के लिए आदेश दिया गया है।