प्रदेश विशेष
अलवर हत्याकांड में हुआ खुलासा: पुलिस की पिटाई से हुई थी रकबर की मौत
अलवर,23/जुलाई/2018/ITNN>>> राजस्थान में अलवर जिले के रामगढ़ पुलिस थाना क्षेत्र में लालवंडी गांव में गौ तस्करी के शक में कथित भीड़ के हमले से एक व्यक्ति की मौत के मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि रकबर की मौत पुलिस की पिटाई से हुई है। गांव वालों का यह भी कहना है कि उन्हें बेवजह ही बदनाम किया जा रहा है।

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि उसने पुलिस को रकबर  को पीटते हुए देखा है।  उसने पुलिस को गाड़ी के अंदर मौजूद शख्स को पीटते और गाली देते हुए देखा था। उन्होंने बताया कि शख्स उस समय जिंदा था। इसके बाद घायल शख्स लगातार दर्द होने की शिकायत कर रहा था लेकिन पुलिसवालों ने पास के स्टॉल से चाय पी। इसके बाद किशोर गायों को गौशाला लेकर गए। लगभग सुबह 4 बजे पुलिस थाने से एक किलोमीटर की दूरी पर स्थित अस्पताल में पीड़ित को लेकर पहुंची। जो तब तक मर चुका था।

गौरतलब है कि राजस्थान के अलवर जिले में 28 वर्षीय व्यक्ति की पीट-पीट कर हत्या किए जाने के मामले में रविवार एक और शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया और जांच की जिम्मेदारी अतिरिक्त एसपी रैंक के एक अधिकारी को सौंपी गई है। रामगढ़ पुलिस थाना के प्रभारी सुभाष शर्मा ने बताया, नरेश सिंह को रविवार को गिरफ्तार किया गया। वह लालावंडी गांव का रहने वाला है। पुलिस अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है। मामले में यह तीसरी गिरफ्तारी है। कल पुलिस ने दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया था। गो तस्करी के आरोप में 28 वर्षीय रकबर  खान की लोगों के एक समूह ने कथित रूप से पीट -पीट कर हत्या कर दी थी।

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा अलवर लिंचिंग का मामला
सुप्रीम कोर्ट अलवर में हुई लिंचिंग की ताजा घटना के मामले में राजस्थान सरकार के खिलाफ अवमानना याचिकाओं पर 28 अगस्त को सुनवाई करेगा। तहसीन पूनावाला और तुषार गांधी ने अवमानना याचिकाओं में आरोप लगाया कि गऊ-रक्षा पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के बावजूद अपराध हो रहे हैं।