प्रदेश विशेष
एंबुलेंस न मिलने पर पति कंधे पर लेकर भटकता रहा पत्नी की लाश, घर ले जाने के लिए मांगनी पड़ी भीख
बंदायूं,08/मई/2018 (ITNN) >>> याेगीराज में भी उत्तर प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था सुधरने का नाम नहीं ले रही है। आए दिन प्रदेश में कभी डाक्टराें की ताे कभी एंबुलेंस ड्राइवर की लापरवाही के मामले सामने आते रहते हैं। जिसका खामियाजा जनता काे जान देकर चुकाना पड़ा रहा है। एेसा ही एक मानवता काे शर्मसार कर देने वाला मामला बदायूं जिला अस्पताल में सामने आया है। जहां डॉक्टराें की लापरवाही की वजह से मरीज की माैत हाे गई। 

यहां तक कि परिजनाें काे लाश ले जाने के लिए एंबुलेंस तक नहीं मिली जिसकी वजह से उसे भीख तक मांगनी पड़ी। दरअसल पीड़ित युवक अपनी बीमार पत्नी के ईलाज के लिए जिला अस्पताल में सुबह से पड़ा रहा लेकिन डॉक्टराें ने उसे गंभीरता से नहीं लिया। माैके पर उपचार न मिलने की वजह से महिला की माैत हाे गई। मरीज की माैत के बाद भी अस्पताल के डाक्टराें का दिल नहीं पसीजा आैर मृतक की लाश काे ले जाने के लिए एंबुलेंस तक नहीं उपलब्ध कराया। 

मजबूरी में मृतका के पति काे पत्नी की लाश अपने कंधाें पर लेकर अस्पताल से लेकर शहर तक भटकना पड़ा। पीड़ित पति पत्नी की लाश काे घर तक पहुंचाने के लिए टेंपाें वालाें से गुहार लगाता रहा है लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की। थक हार कर पीडि़त काे राहगीराें से भीख तक मांगनी पड़ी। जैसे तैसे चंदा इकट्ठा करके पीड़ित पति, पत्नी की लाश काे घर तक ले गया।

पहले भी आ चुके हैं मामले
बता दें कि प्रदेश का ये काेई पहला मामला नहीं है। इस तरह के मामले प्रदेश में आए दिन आते रहते हैं। मीडिया में मामला आने के बाद प्रशासन कार्रवाई के नाम पर जांच की बात कहकर मामले से पल्ला झाड़ लेता है।