PM is afraid of being photographed with entrepreneurs who are behind the scenes: PM Modi
प्रदेश विशेष
पर्दे के पीछे सांठगांठ करने वाले उद्योगपतियों के साथ फोटो खिंचवाने से डरते हैं: PM मोदी
लखनऊ,29/जुलाई/2018/ITNN>>> प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रविवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आयोजित एक ऐतिहासिक कार्यक्रम में 60,228 करोड़ रूपये की औद्योगिक परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में देश के जानेमाने उद्योगपतियों की मौजूदगी में मोदी ने 81 परियोजनाओं की आधारशिला पर प्रतीतातमक हस्ताक्षर किए। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि मुझे प्रसन्नता है कि उत्तर प्रदेश के विकास के लिए हम लोग कोने-कोने से यहां इकट्ठा हुए हैं। आज एक बहुत बड़ा कदम उठाया गया है। मैं इसके लिए सीएम से लेकर हर उस अफसर को बधाई देता हूं जिसने इस काम में अपना सहयोग दिया। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि हिंदुस्तान को बनाने में उद्योगपतियों की भी भूमिका होती है और उन्हें चोर लुटेरा कहना या अपमानित करना पूर्णतया गलत है। विपक्षी दलों द्वारा अक्सर देश के बडे़ उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के आरोपों का सामना करने वाले मोदी ने कहा कि अगर हिंदुस्तान को बनाने में एक किसान,एक कारीगर,एक बैंकर फाइनेंसर,सरकारी मुलाजिम,मजदूर की मेहनत काम करती है तो इसमें देश के उद्योगपतियों की भी भूमिका होती है। हम उनको अपमानित करेंगे,चोर लुटेरा कहेंगे. ये कौन सा तरीका है। प्रधानमंत्री ने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में 60 हजार करोड रूपये की 81 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। 

उन्होंने इतने बड़े निवेश की परियोजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी टीम के साथ-साथ अधिकारियों को बधाई दी। मोदी ने कहा कि प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना बहुत संकोच से कह रहे थे कि 60 हजार करोड़ रूपये का निवेश हुआ है। यह ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी नहीं रिकॉर्ड ब्रेकिंग सेरेमनी है। उन्होंने कहा कि इतने कम समय में प्रक्रिया को सरल कर इतना बड़ा निवेश बड़ी बात है। मैं भी बहुत लंबे अरसे तक मुख्यमंत्री रहा हूं। औद्योगिक गतिविधियों से जुड़ा रहा हूं। यह निवेश कम नहीं है। यूपी इन्वेस्टर्स समिट के 5 महीने बाद ही इतना बड़ा निवेश होना बड़ा काम है। 

60 हजार करोड रूपये को कम ना समझें। हम एक ऐसी व्यवस्था खड़ी करना चाहते हैं जहां किसी भेदभाव की गुंजाइश ना हो। प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रक्रियाओं में गति भी दिखे और संवेदनशीलता भी,ना अपना,ना पराया,ना छोटा,ना बड़ा,सबके साथ समान व्यवहार सबका साथ,सबका विकास। उन्होंने कहा कि मैंने उत्तर प्रदेश की 22 करोड़ जनता को वचन दिया था कि उनके प्यार को ब्याज समेत लौटाउंगा। यहां जो परियोजनाएं शुरु हो रही हैं वो उसी वचनबद्धता का हिस्सा हैं। ये परियोजनाएं उत्तर प्रदेश में आर्थिक और औद्योगिक असंतुलन को दूर करने में भी सहायक होंगी।