प्रदेश विशेष
रमजान में सुरक्षा बलों के हाथ बंधे नहीं,शरारत की तो मिलेगा मुंहतोड़ जवाब: राजनाथ
लखनऊ,30/मई/2018/ITNN>>> केन्द्रीय गृहमंत्री ने साफ-साफ कहा कि रमजान के पवित्र महीने में कश्मीर घाटी में अमन-चैन में बाधा पहुंचाने वाली किसी भी कोशिश का सुरक्षा बल मुंहतोड़ जवाब देंगे। सिंह ने यहां पत्रकारों से कहा कि रमजान के नाम पर सुरक्षा बलों के हाथों को कतई बांधा नहीं जा सकता। घाटी में अमन-चैन बरकरार रखना सुरक्षा बलों की प्राथमिकता है और अगर किसी ने इसमें खलल डालने की कोशिश की तो उसे करारा जवाब मिलेगा। हमने ऐसा किया भी है। सुरक्षा बलों ने हाल ही में 5 आतंकवादियों को मार गिराया। गृहमंत्री ने कहा कि सरकार अलगाववादियों से बातचीत करने को तैयार है मगर इसके लिए अनुकूल माहौल का होना जरूरी है।

राजनाथ सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ संयुक्त प्रैस वार्ता में कहा कि डॉलर और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दाम बढ़ने से पैट्रोल-डीजल के दाम चढ़े हैं लेकिन केन्द्र सरकार पैट्रोलियम उत्पाद की कीमतों को जलद कम करेगी। राजनाथ ने कहा कि मैं स्वीकार करता हूं कि कच्चे तेल और डॉलर के रेट बढ़ने से दिक्कतें आई हैं पर हमें इससे कोई दिक्कत नहीं आएगी क्योंकि हमारे पास विदेशी मुद्रा का पर्याप्त स्टॉक है। उन्होंने कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर डिवैल्पमैंट बुनियादी ढांचा विकास के मामले में एक तथ्य यह है कि यू.पी.ए.सरकार में औसतन 12 कि.मी.हाईवे रोज बनते थे लेकिन हमारी सरकार के 4 साल में प्रतिदिन औसतन 27 कि.मी.राजमार्ग निर्माण का काम हो रहा है। 

राजनाथ ने कहा कि इस सरकार ने जितना जोर बुनियादी संरचना के विकास पर दिया है,उस हिसाब से 2040 तक अकेले इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में ही 4 से 5 हजार अरब डॉलर का निवेश होगा। देश के पूर्वोत्तर में 2 दशक में उग्रवाद में 85 फीसदी की कमी आई है। सुरक्षाकर्मियों और आम नागरिकों की मौत के मामले में 96 फीसदी की कमी आई है और नक्सलवाद की घटनाओं में कमी आई है। केन्द्र की मोदी सरकार के 4 वर्ष की उपलब्धियां गिनाते हुए राजनाथ ने कहा कि नक्सलवाद 2013 में 76 जिलों से 2018 तक 58 जिलों तक सीमित रह गया है। 

हमने क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रैकिंग नैटवर्क सिस्टम बनाया,जिसकी विदेश में भी तारीफ हुई। उन्होंने कश्मीर मुद्दे पर कहा कि वहां 2010 से 2013 के बीच में 471 आतंकी मारे गए थे जबकि 2014 से 2017 तक 619 आतंकी मारे गए हैं। उन्होंने बताया कि पहले जब कोई जवान शहीद होता था तो उसके परिजनों को 50-55 लाख रुपए दिए जाते थे लेकिन हमने तय किया कि ऐसे मामलों में एक करोड़ रुपए से कम नहीं दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार के किसी मंत्री के दामन पर भ्रष्टाचार का दाग नहीं लगा।

आर्थिक अपराधियों के देश छोड़कर भागने पर किए गए सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस के लोगों से सवाल करता हूं कि क्या आपकी सरकार रहते लोग नहीं भागे। हमने ऐसा कानून बनाया है कि हम विदेशों में भी आर्थिक अपराधी की संपत्ति जब्त करेंगे। ग्रामीण सड़क कनैक्टीविटी के क्षेत्र में भी हमारी सरकार ने शानदार काम किया है। 2022 आते-आते किसानों की आमदनी दोगुनी होगी। पहली बार भारत के इतिहास में ऐसा हुआ है कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए 14 लाख करोड़ रुपए बजट का प्रावधान किया गया है। राजनाथ ने कहा कि भारत में मोबाइल क्रांति का जनक अगर कोई है तो वह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी हैं।