After the SBI, these banks will also increase interest rates, expensive loans.
प्रमुख समाचार
SBI के बाद इन बैंकों ने भी बढ़ाईं ब्याज दरें,महंगा होगा लोन
नई दिल्ली,08/जून/2018/ITNN>>> रिजर्व बैंक के नीतिगत दर में वृद्धि करने के अगले ही दिन बैंकों ने ब्याज दर बढ़ाना शुरु कर दिया। इससे आवास, वाहन तथा कारोबार के लिए कर्ज महंगे होंगे। सार्वजनिक क्षेत्र के इंडियन बैंक तथा करुर वैश्य बैंक ने एमसीएलएआर में 0.10 प्रतिशत वृद्धि की है। शेयर बाजारों को यह सूचना दी गई है।

इन बैंकों ने बढ़ाई ब्याज दरें
सार्वजनिक क्षेत्र के इंडियन बैंक ने तीन महीने से पांच साल की अवधि के कर्ज पर एमसीएलआर में 0.1 प्रतिशत वृद्धि की है। इसी प्रकार करुर वैश्य बैंक ने भी छह महीने और एक साल की अवधि के कर्ज पर ब्याज दर में इतनी ही वृद्धि की है। रिजर्व बैंक द्वारा रेपो दर (मुख्य नीतिगत दर) बढ़ाए जाने की आशंका में भारतीय स्टेट बैंक,आईसीआईसीआई बैंक तथा एचडीएफसी बैंक जैसे कुछ बड़े बैंक पहले ही कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) बढ़ा चुके हैं।

रेपो रेट में बढ़ौतरी
चालू वित्त वर्ष की दूसरी द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में रिजर्व बैंक ने मुद्रास्फीति बढ़ने की आशंका में रेपो दर 0.25 प्रतिशत बढ़ाकर 6.25 प्रतिशत कर दी। पिछले साढे चार साल में पहली बार रेपो में वृद्धि की गई है। बैंक आफ महाराष्ट्र ने भी ब्याज दर बढ़ाने का संकेत दिया है।