Currency war will now be a deadly impact on developing countries after trade war
प्रमुख समाचार
ट्रेड वॉर के बाद अब करंसी वॉर,विकासशील देशों पर होगा घातक असर
न्यूयॉर्क,23/जुलाई/2018/ITNN>>> अमरीका और चीन के बीच जारी ट्रेड वॉर के बीच अब करंसी वॉर भी छिड़ गया है। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को चीन और यूरोपीय यूनियन पर उनकी करंसी से छेड़छाड़ और ब्याज दरों में कटौती का आरोप लगाया। ट्रम्प का यह बयान युआन के साल में सबसे निचले स्तर तक लुढ़कने के बाद आया है और इसकी संभावना कम है कि चीन का सैंट्रल बैंक इस गिरावट को रोकने के लिए हस्तक्षेप करेगा। यूरो के मूल्य में भी इस साल गिरावट आई है।

जानकारों का कहना है कि दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्थाएं पहले ही ट्रेड वॉर में उलझी हुई हैं और करंसी वॉर का असर घातक होगा। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक इसका असर अमरीका और चीन के अलावा दूसरी करंसीज पर भी होगा। विकासशील देशों में इक्विटीज से लेकर तेल तक महंगा हो सकता है। ट्रम्प ने ट्वीट में लिखा,चीन यूरोपीय यूनियन और अन्य करंसी के साथ छेड़छाड़ कर रहे हैं और ब्याज दर को घटा रहे हैं,जबकि अमरीका दरों में वृद्धि कर रहा है और डॉलर दिन-प्रतिदिन मजबूत हो रहा है। 

यह प्रतिस्पर्धा में बढ़त को दूर ले जा रहा है और यह खेल में बराबरी नहीं है। इसके साथ ही ट्रम्प ने फैडरल रिजर्व की मौजूदा मौद्रिक नीति की आलोचना की थी। इसके बाद शुक्रवार को डॉलर में गिरावट दर्ज की गई। ट्रम्प ने बताया कि वह खुश नहीं है कि फैडरल रिजर्व अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए ब्याज दरें बढ़ा रहा है। इस बीच फैडरल रिजर्व के अध्यक्ष जेरोमी पॉवेल ने इस साल के अंत में ब्याज दरें बढ़ाए जाने के संकेत दिए हैं।