Suicidal attack on Nawaz's party election convoy, death of former minister
प्रमुख समाचार
नवाज की पार्टी के चुनाव काफिले पर आत्मघाती हमला,पूर्व मंत्री की मौत
पेशावर,23/जुलाई/2018/ITNN>>> पाकिस्तान में चुनाव से 2 दिन पहले एक चुनावी काफिले पर हुए आत्मघाती हमले में  पूर्व प्रांतीय मंत्री और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के वरिष्ठ नेता की मौत हो गई।  पुलिस ने बताया कि  हिंसाग्रस्त खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के डेरा इस्माईल खान में आज पीके-99 निर्वाचन क्षेत्र से प्रांतीय असेंबली सीट के उम्मीदवार इकरामुल्ला गंडापुर एक चुनावी बैठक के लिए जा रहे थे कि रास्ते में एक आत्मघाती हमलावर ने उनके वाहन को अपना निशाना बनाया। 

डेरा इस्माईल खान के जिला पुलिस अधिकारी (डीपीओ) मंजूर अफरीदी ने कहा कि हमले में इकरामुल्ला का कार चालक भी मारा गया जबकि तीन सुरक्षाकर्मी बुरी तरह घायल हो गए। इकरामुल्ला आज सुबह हुए आत्मघाती विस्फोट में गंभीर रूप से घायल हुए थे जिसके बाद उन्हें हेलीकॉप्टर से पेशावर के एक अस्पताल ले जाया गया लेकिन इलाज के दौरान कुछ ही घंटे बाद उन्होंने दम तोड़ दिया। वह पीटीआई के नेतृत्व वाले खैबर पख्तूनख्वा मंत्रिमंडल में प्रांतीय कृषि मंत्री रहे थे। इकरामुल्ला डेरा इस्माईल खान पीके-67 सीट से उपचुनाव में चुने गए थे। 

डेरा इस्माइल खान पीके-67 सीट इकरामुल्ला के भाई और कानून मंत्री इसरारूल्ला गंडापुर की एक आत्मघाती हमले में मौत के बाद रिक्त हुई थी। अफरीदी ने बताया कि इकरामुल्ला कुलाची तहसील में एक नुक्कड़ सभा में हिस्सा लेने के बाद लौट रहे थे जब एक संकरी सड़क पर उनके वाहन पर हमला हुआ। घटना के तुरंत बाद पुलिस और सुरक्षा बलों के अधिकारियों ने इलाके की घेराबंदी कर दी और तलाशी अभियान शुरू कर दिया।लगभग उसी समय बन्नू जिले में जमीयत उलेमा इस्लाम फज्ल (जेयूआई-एफ) के नेता और खैबर पख्तूनख्वा के पूर्व मुख्यमंत्री अकरम खान दुर्रानी पर 10 दिन के अंदर दूसरी पर जानेलवा हमला किया गया।