प्रमुख समाचार
ट्रेन में कैशलेस मिलेगा खाने-पीने का सामान,दे सकेंगे फीडबैक
नई दिल्ली,29/अप्रैल/2018 (ITNN) >>> भारतीय रेलवे की तरफ से यात्रियों को कई सुविधाएं दी जा रही हैं। गंदगी होने पर बस एक मैसेज भेज दो, कोई बीमार हो तो पीएनआर नंबर बता दो अगले स्टेशन पर जरूरी दवा मिल जाएगी। वहीं,अब आईआरसीटीसी ने ट्रेन से यात्रा करने वाले लोगों के लिए नई पहल शुरू की है। रेल विभाग की तरफ से चलती ट्रेन में अब खाने-पीने का सामान खरीदने के लिए नगद पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं होगी।

कैशलेस खरीदारी करते हुए आप ट्रेन में चाय,कॉफी,खाना और पानी की बोतल ले सकेंगे। आप डेबिट कार्ड,क्रेडिट कार्ड के माध्यम से भुगतान कर सकते हैं। यह पेमेंट आप चलती ट्रेन में पीओएस मशीन के जरिए कर पाएंगे। केंद्र सरकार की कैशलेस व्यवस्था का असर रेलवे पर दिखने लगा है। रेल प्रशासन ट्रेन में सवार यात्रियों से डिजिटल लेनदेन करने की कवायद में लगा है। कई बार यात्रा के दौरान खुल्ले पैसे नहीं होने पर खाने-पीने की चीजें यात्री नहीं खरीद पाते थे। 

हाल में रेलवे बोर्ड की बैठक में निर्णय लिया गया है कि यात्री डेबिट व क्रेडिट कार्ड से भी लेनदेन कर सकते हैं। इसके लिए ट्रेन में वेंडर पीओएस मशीन लेकर चलेंगे, ताकि यात्रियों को दिए गए सामान का पैसा आसानी से ले सकें। इसके लिए राजधानी ट्रेनों में प्रयोग के रूप में पहल शुरू की गई है। यदि सबकुछ ठीक रहा तो जल्द ही पैंट्रीकार ट्रेनों में सहूलियत मिलने लगेगी।

पेटीएम और भीम ऐप से भी भुगतान
पीओएस मशीन के अलावा यात्री पेटीएम और भीम एप के जरिये भी भुगतान कर सकेंगे। पीओएस मशीन से पेमेंट करने पर आपको खरीदी गई सामग्री का बिल भी मिलेगा। इससे अब वेंडर आपसे किसी भी चीज के लिए एक्सट्रा पेमेंट नहीं वसूल पाएंगे। अभी इस योजना को पायलट प्रोजेक्ट के तहत लंबी दूरी की 26 ट्रेनों में शुरू किया गया है। इस योजना के सफल होने पर जल्द ही पीओएस मशीन की सुविधा पैंट्रीकार ट्रेनों में दी जाएगी।

यात्री दे सकेंगे फीडबैक
रेलवे की तरफ से यह भी कहा गया कि पोओएस मशीन से बिल का भुगतान नहीं लेने वाले वेंडर पर आईआरसीटीसी जुर्माना लगाएगा। साथ ही कैशलेस व्यवस्था को लेकर एक हेल्पलाइन नंबर भी मुहैया कराया जाएगा। इस नंबर पर ग्राहक सेवा का फीडबैंक देने के अलावा शिकायत भी दर्ज करा सकेंगे।