प्रमुख समाचार
कम्पोजिशन योजना की सीमा 1.5 करोड़ करने वाला विधेयक लोकसभा में पास
नई दिल्ली,09/अगस्त/2018/ITNN>>> वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) के तहत कम्पोजिशन योजना की सीमा 1 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 1.5 करोड रुपये किए जाने से संबंधित संशोधन विधेयकों को लोकसभा ने गुरुवार को ध्वनिमत से पारित कर दिया। विधेयक पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि इस संबंध में पेश चार संशोधन विधेयकों के पारित होने के बाद लोकसभा ने देश की सवा सौ करोड़ की आबादी को अच्छी और सरल कर व्यवस्था की सौगात दे रही है। सरकार का यह कदम आर्थिक व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन करने वाला है। 

जीएसटी को सरल बनाने के लिए इससे जुड़े चार कानूनों में संशोधन किया जा रहा है। इन महत्वपूर्ण विधेयकों के पारित होने के बाद इस दिन को बहुकर प्रणाली से मुक्ति दिवस के रूप में भी मनाया जा सकता है। गोयल ने कहा कि जीएसटी में अत्यधिक लचीला रुख अपनाया जा रहा है। इससे कारेाबार करना आसान हो सकेगा। जीएसटी परिषद की अब तक 29 बैठकें हो चुकी हैं। इन बैठकों में जनता से प्राप्त सुझावों और अब तक के अनुभवों के आधार पर निर्णय लिया जाता है। जनहित में परिषद ने एक साल के दौरान 384 वस्तुओं तथा 68 सेवाओं पर कर की दरों को घटाया है। 

अब तक कुल 452 वस्तुओं की दरों में बदलाव किया गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि जीएसटी ने एक साल के दौरान 186 वस्तुओं तथा 99 सेवाओं को पूरी तरह से कर मुक्त किया है। सेनिटरी पैड को पूरी तरह से कर मुक्त किया गया है। इसी तरह से राखी का त्यौहार खुशहाल बनाने के लिए राखी को भी कर मुक्त किया गया है। दिव्यांगों के उपयोग की वस्तुओं को कर मुक्त करने का प्रावधान किया गया है। इसी तरह से चरखा को भी करमुक्त किया गया है।