Rahul talked about Dostalam dispute: Sushma betrayed with jawans
प्रमुख समाचार
डोकलाम ​विवाद पर बोले राहुल- सुषमा ने जवानों के साथ किया विश्वासघात
नई दिल्ली,02/अगस्त/2018/ITNN>>> संसद के मॉनसून सत्र के दौरान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने दावा किया कि डोकलाम विवाद कूटनीतिक तरीके से सुलझा लिया गया है। वहीं इसे लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कई सवाल उठाए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि विदेश मंत्री ने चीनी सेना के आगे घुटने टेक दिए हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सीमा पर तैनात हमारे जवानों के साथ धोखा हुआ है। राहुल ने वीरवार को डोकलाम मुद्दे पर ट्वीट कर कहा कि ये चौंकाने वाला है कि सुषमा स्वराज जैसी महिला ने चीनी ताकत के सामने घुटने टेक दिए। 

सरकार का इस तरह घुटने टेकना बॉर्डर पर तैनात जवानों के साथ विश्वासघात है। बता दें कि बुधवार को लोकसभा की कार्यवाही के दौरान सुषमा ने कहा था कि डोकलाम अब कोई मुद्दा नहीं है,ये विवाद पहले ही सुलझ चुका है। लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान विदेश मंत्री ने कहा कि वुहान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच हुई बैठक का कोई विशेष एजेंडा नहीं था और ऐसे में डोकलाम का मुद्दा भी उसमें शामिल नहीं था। उन्होंने कहा कि वुहान की बैठक की तैयारी के संदर्भ में वह खुद चीन गई थीं। 

वुहान की बैठक का तीन ध्येय था- दोनों नेताओं के बीच सहजता बढ़ाना,आपसी समझ बढ़ाना और परस्पर विश्चास बढ़ाना। सुषमा ने कहा था कि इस मुलाकात के दौरान दोनों नेताओं में सहमति बनी कि दोनों देशों की सेनाओं के बीच किसी भी विवाद को अपने स्तर पर सुलझाया जाएगा। गौरतलब है कि सिक्किम सीमा सेक्टर के पास डोकलाम में भारत और चीनी सेना करीब 73 दिन तक आमने-सामने थीं। यह गतिरोध तब शुरू हुआ था जब इस इलाके में चीनी सेना द्वारा किए जाने वाले सड़क निर्माण कार्य को भारतीय सैनिकों ने रोक दिया। हालांकि, पीएम मोदी के चीन दौरे से पहले इस विवाद को सुलझा लिया गया था।