प्रमुख समाचार
पीएम मोदी की यात्रा के दौरान भारत-UE के बीच होंगे 12 समझौते
नई दिल्ली,06/फरवरी/2018(ITNN)>>> प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सप्ताह संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की यात्रा के दौरान दोनों पक्षों के बीच 12 समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे। एक शीर्ष राजनयिक ने कहा कि तेल संपन्न यूएई और भारत परस्पर आर्थिक सहयोग और गहन करने के इच्छुक है। दोनों पक्षों के बीच वित्त और कौशल विकास जैसे क्षेत्रों में करार होने की संभावना है।  मोदी तीन पश्चिमी एशियाई देशों फलस्तीन,ओमान की यात्रा पर शुक्रवार को प्रस्थान कर रहे हैं।

इन समझौते पर लग सकती है मुहर
भारत में यूएई के राजदूत अहमद अल बन्ना ने कहा,प्रधानमंत्री मोदी 10 फरवरी को यूएई की यात्रा पर जा रहे हैं। यह सरकारी यात्रा होगी और इस दौरान 12 समझौते किए जाएंगे। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री की इस यात्रा के दौरान रक्षा,सुरक्षा और आतंकवाद से लड़ाई जैसे मुद्दों पर सहयोग बढ़ाने को लेकर सहमति बनेगी।

-भारत कृषि प्रधान देश है। देश की 60 प्रतिशत से ज्यादा आबादी खेती से जुड़ी हुई है। इजराइल कृषि तकनीक में काफी आगे है। भारत इजराइल के साथ मिलकर एक्शन प्लान पर काम कर रहा है। भारत में बनाए जा रहे 26 सेंटर ऑफ एक्सीलेंस में से 15 इजराइल के सहयोग से विकसित किया जा रहे हैं।

-जल प्रबंधन के क्षेत्र में इजराइल काफी विकसित है इसलिए इस क्षेत्र में वो भारत के लिए काफी मददगार साबित हो सकता है। मोदी के दौरे में जल प्रबंधन से जुड़े समझौते होने की पूरी उम्मीद है। 28 जून 2017 को केंद्रीय कैबिनेट ने इजराइल के साथ नेशनल कैंपेन फॉर वाटर कंजरवेशन इन इंडिया पर परस्पर सहयोग पत्र (एमओयू) को मंजूरी दी। साल 2016-17 में दोनों देशों के बीच 33 हजार करोड़ रुपए का परस्पर कारोबार हुआ। उम्मीद की जा रही है कि मोदी के दौरे में ये कारोबार और बढ़ेगा।

-रक्षा तकनीक में इजराइल दुनिया के सबसे अग्रणी देशों में एक है। भारत द्वारा साल 2012 से 2016 के बीच 41 प्रतिशत हथियार इजराइल से खरीदे गए थे। अमेरिका और रूस के बाद इजराइल भारत का तीसरा सबसे बड़ा हथियार निर्यातक देश है। 1962 के चीन युद्ध,1965 और 1971 के पाकिस्तान युद्ध में भी इजराइल ने भारत की मदद की थी। अप्रैल 2017 में भारत और इजराइल के बीच 12 हजार करोड़ रुपए का रक्षा सौदा हुआ।

मंदिर की आधारसिला रखेंगे मोदी
11 फरवरी को प्रधानमंत्री यूएई के शहीद सैनिकों के स्मारक पर जाएंगे। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री एक सामुदायिक कार्यक्रम में भी हिस्सा लेंगे। वे मंदिर की आधारशिला रखेंगे। प्रधानमंत्री 10-11 फरवरी को दुबई में छठे वैश्विक सरकार शिखर सम्मेलन भी भाग लेंगे। भारत इसमें भागीदार देश है। इस सालाना सम्मेलन में 26 देशों की सरकारों के मुखिया, प्रधानमंत्री , मंत्री और 2000 से अधिक प्रतिनिधि भाग लेंगे। यह मोदी की दूसरी यूएई यात्रा है। इससे पहले वह अगस्त, 2015 को यूएई गए थे।