PM Modi s 10 big dialogues in the Lok Sabha
प्रमुख समाचार
लोकसभा में पीएम मोदी के 10 बड़े डायलॉग,जिन पर खूब बजीं तालियां
नई दिल्ली,07/फरवरी/2018(ITNN)>>> प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कांग्रेस पर तीखा हमला करते हुए उस पर देश का विभाजन करने का आरोप लगाया। कांग्रेस और वाम दलों के भारी शोरशराबे और नारेबाजी के बीच मोदी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लोकसभा में धन्यवाद प्रस्ताव पर मंगलवार हुई चर्चा का जवाब दिया। इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा।

एक नजर पीएम मोदी के डायलॉग्स पर
* कांग्रेस ने देशहित में नहीं बल्कि राजनीतिक स्वार्थ को ध्यान में रखकर फैसले किए जिनका खामियाजा देश आज तक भुगत रहा है। आपके दिए जहर की कीमत देश चुका रहा है।

* कांग्रेस को यह अहंकार है कि देश को लोकतंत्र प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू और उसने दिया है जबकि वास्तविकता यह है कि भारत में लोकतंत्र हजारों साल से है। कांग्रस हमें लोकतंत्र का पाठ न पढ़ाए। 

* यह दुर्भाग्य है कि कांग्रेस नेताओं को लगता है कि भारत का जन्म 15 अगस्त 1947 को हुआ और लोकतंत्र आया।

* लिच्छवी साम्राज्य और बौद्धकाल में भी लोकतंत्र की गूंज थी। खड़गे जी याद रहे आपके गृह राज्य कर्नाटक से ताल्लुक रखने वाले जगतगुरू विश्वेश्वर ने 12वीं शताब्दी में ऐसी व्यवस्था की थी जिनमें सबकुछ लोकतांत्रिक ढंग से होता था और महिलाओं की सदस्यता भी अनिवार्य थी।

* अगर सरदार वल्लभभाई पटेल देश के पहले प्रधानमंत्री बने होते तो आज हमारे कश्मीर का एक हिस्सा पाकिस्तान के नियंत्रण नहीं होता।

* सिर्फ घोषणाएं करके सुर्खियों में आना हमारी संस्कृति नहीं है,हम जो योजनाएं शुरू करते हैं उन्हें पूरा करते हैं और पहले की अधूरी योजनाओं को भी पूरा करते हैं।

* आपने मां भारत के टुकड़े कर दिए, इसके बावजूद ये देश आपके साथ रहा। आप उस जमाने में देश में राज कर रहे थे जिस समय विपक्ष न के बराबर था।

* गैर बीजेपी राज्यों में एक करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार मिला है,क्या आप इसको भी झूठा कहेंगे? देश को गुमराह करने की कोशिश मत कीजिए।

* सबकुछ हमने ही किया और एक परिवार ने किया,इसी मानसिकता की वजह से आप (कांग्रेस) आज विपक्ष में बैठे हैं।

* मैं नरेंद्र मोदी कहता हूं कि पुरानी सरकारों के योगदान से देश बना,कांग्रेस ने कभी दूसरी सरकारों के योगदान का जिक्र नहीं किया।