प्रमुख समाचार
राहुल ने की BJP और RSS की तारीफ,बोले- इनसे नसीहत लें कांग्रेसी कार्यकर्त्ता
नई दिल्ली,23/जुलाई/2018/ITNN>>> कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें भाजपा और आरएसएस से सीख लेनी चाहिए। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में कार्यकर्त्ताओं को 2019 के लिए जीत का मंत्र देते हुए राहुल ने नसीहत देते हुए कहा कि पार्टी नेता सोच-समझकर बोलें। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि सभी विपक्षी दल मिलकर भाजपा को लोकसभा चुनाव में हराएंगे,साथ ही उन्होंंने कहा कि भाजपा और आरएसएस की कार्यप्रणाली से सीखें। 

बैठक मे राहुल के बयान को पहले पार्टी की तरफ से यूट्यूब पर अपलोड किया गया था लेकिन कुछ ही मिनटों पर इसे हटा लिया गया। इसी भाषण में राहुल ने भाजपा की तारीफ की है। राहुल ने कार्यकर्त्ताओं से कहा कि हम कठिन मोर्चों पर काम करने से कतराते हैं,जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए। राहुल ने आदिवासी समुदाय का उदाहरण देते हुए कहा कि दशकभर से इस समुदाय के लोग कांग्रेस के वोटर थे लेकिन भाजपा और आरएसएस के लोग इनके बीच गए और उनको समझा उनके साथ काम किया और अपनी पार्टी के बारे में समझाया,इसी वजह से इस समुदाय के लोग अब भाजपा को वोट देते हैं। 

दरअसल राहुल कार्यकर्त्ताओं को समझाना चाहते थे कि भाजपा और आरएसएस एक रणनीति और परिश्रम के तहत हर काम करते हैं। वे कांग्रेसियों को बताना चाहते थे कि अगर कड़ी मेहनत से कुछ भी किया जाए तो उसका परिणाम भी बेहतर होता है। राहुल ने कार्यकर्त्ताओं को समझाया कि अगर वे फिर से आदिवासियों के बीच जाएं तो यह समुदाय फिर दोबारा कांग्रेस के साथ जुड़ सकता है। लेकिन शायद कांग्रेस को लगा कि राहुल के बयान को भाजपा नेता उछाल न दें इसलिए उन्होंने यू-ट्यूब से भाषण को हटा दिया। 

गांधी ने कहा कि वह सिद्धांतों की लड़ाई लड़ रहे हैं और इसलिए कोई भी नेता किसी भी तरह की बयानबाजी से बचे। उन्होंने परोक्षरूप से वरिष्ठ नेता शशि थरूर की तरफ इशारा करते हुए कहा कि गलतबयानी अब बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उल्लेखनीय है कि थरूर ने हाल ही में हिन्दू पाकिस्तान और हिन्दू तालिबान जैसे शब्दों का प्रयोग करके भाजपा को कांग्रेस पर निशाना साधने का मौका दिया है।