प्रमुख समाचार
शाह का राहुल पर पलटवार- आंख मारने से फुर्सत मिले तो तथ्य जांच लेना
नई दिल्ली,09/अगस्त/2018/ITNN>>> 2019 लाकसभा चुनाव के नजदीक आते ही भाजपा और कांंग्रेस के ​बीच आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला तेज हो गया है। जहां एक ओर कांग्रेस अध्यक्ष रा​हुल गांधी ने दलितों के जरिए मोदी सरकार पर निशाना साधा वहीं अमित शाह ने इस पर पलटवार किया। भाजपा अध्यक्ष ने तंज कसते हुए कहा कि अगर रा​हुल गांधी को आंख मारने से फुर्सत मिल जाए तो वह तथ्यों की जांच कर लें। शाह ने एक के बाद एक ट्वीट कर कांग्रेस अध्यक्ष पर हमला बोला। 

उन्होंने लिखा कि राहुल जी,जब आपको आंख मारने और संसद में हंगामा करने से फुर्सत मिल जाए तो तथ्य जांच लें। ट्वीट में लिखा कि मोदी सरकार ने संशोधित बिल के जरिए एससी/एसटी एक्ट को मजबूत किया है,फिर आप प्रदर्शन क्यों कर रहे हैं। भाजपा अध्यक्ष ने दूसरे ट्वीट में लिखा कि अच्छा होता कि कांग्रेस ने जिस तरह बाबा साहेब अंबेडकर,बाबू जगजीवन राम और सीताराम केसरी के साथ व्यवहार किया है राहुल गांधी उस पर बोलते। 

कांग्रेस ने लगातार दलितों के साथ अत्याचार किया है। शाह ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि क्या ये इत्तेफाक ही है कि जिस साल सोनिया गांधी ने कांग्रेस जॉइन की,उसी साल थर्ड फ्रंट-कांग्रेस की सरकार ने प्रमोशन में आरक्षण का विरोध किया,और जिस साल राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष बने तब उन्होंने SC/ST एक्ट और ओबीसी कमीशन का विरोध किया। ये एंटी बैकवर्ड सोच को दिखाता है। 

भाजपा नेता यही नहीं रूके उन्होंने राहुल पर हमला करते हुए लिखा कि आपसे रिसर्च और ईमानदारी की उम्मीद करना मुश्किल है,लेकिन फिर भी आप राजीव गांधी का मंडल के समय का बयान पढ़ें। उससे आपको समझ आ जाएगा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने SC/ST एक्ट को मजबूत करने के लिए काफी कदम उठाए हैं। बता दें कि राहुल गांधी ने जंतर-मंतर पर दलितों के प्रदर्शन में हिस्सा लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला था। उन्होंने आरोप लगाया था कि पीएम मोदी के दिल में दलितों के लिए कोई जगह नहीं है उनकी की सोच दलित विरोधी है।